Latest Post

SEO क्या है होता है? What is SEO? वैलेंटाइन डे क्या होता है? Valentine Day क्यों मनाते हैं

जैसा की हम सब जानते है की वैलेंटाइन डे को प्यार का दिन कहा जाता है । वैलेंटाइन डे बहुत सारे देशों में मनाया जाता है। इस दिन कपल एक-दूसरे से अपने प्यार का इजहार करते  है। वैलेंटाइन को लेकर बहुत  सारी कहानियां हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि वैलेंटाइन डे 14 फरवरी को ही क्यू मनाते है

template 1 वैलेंटाइन डे क्या होता है? Valentine Day क्यों मनाते हैं
Valentine Day

वैलेंटाइन डे का क्या अर्थ है?

वर्षों (और सदियों) से, वेलेंटाइन डे एक धार्मिक उत्सव, एक प्राचीन अनुष्ठान दिवस के रूप मे मनाया जाता है  है। वेलेंटाइन डे का अर्थ वास्तव में प्यार करना है,आप किसी से भी प्यार कर सकते है   जैसे की आप जिसे प्यार करते है उसे आप कुछ चॉकलेट या फूल देकर प्यार का इजहार कर सकते  हैं,चाहे वे एक कार्यकर्ता हो , साथी हो , मित्र हो , या परिवार के सदस्य।

कुछ लोग वेलेंटाइन डे को प्यार करते हैं, और कुछ लोग इसे नफरत करना पसंद करते हैं; वैलेंटाइन डे मनाने का एक अपेक्षाकृत नया तरीका है, क्योंकि इस दिन जो जिसे प्यार करता है वह अपने प्यार का  इजहार कर सकता है।

इसलिए प्यार के दिन को आप जैसे चाहें मनाएं, भले ही वह सिर्फ आत्म-प्रेम के माध्यम से ही क्यों न हो। एक अच्छा डिनर आउट, फिल्मों में जाना, घर पर फैंसी खाना बनाना या वैलेंटाइन डे पार्टी की मेजबानी करना भी जश्न मनाने के शानदार तरीके हैं।

वैलेंटाइन डे कैलेंडर पर एक निश्चित दिन है, जो प्राचीन रोमन कैलेंडर पर फरवरी के मध्य की छुट्टी में ढल गया था, जिसे लुपरकेलिया कहा जाता है – जिसे कुछ इतिहासकार मानते हैं कि यही कारण है कि वेलेंटाइन डे प्यार के बारे में है।

लुपरकेलिया ने प्रजनन क्षमता का जश्न मनाया, जिसमें पुरुषों और महिलाओं को एक जार से नाम चुनकर जोड़ा जाता है। प्राचीन ग्रीस में, लोगों ने भगवान ज़ीउस और देवी हेरा के विवाह के लिए मध्य-सर्दियों का उत्सव मनाया।

वैलेंटाइन डे की शुरुआत कैसे हुई

5वीं शताब्दी के अंत में,ऑरिया ऑफ जैकोबस डी वॉराजिन’ नाम की बुक  के हिसाब से  रोम  एक पादरी थे ।वह प्यार में बहुत विस्वास रखते थे और वह प्यार को बढ़ावा देना चाहते थे। उनके लिए प्रेम  ही जीवन था। लेकिन उसी  राज्य के एक राजा क्लॉडियस प्रेम में विस्वास नहीं रखते थे। । राजा को लगता था कि प्रेम और विवाह से पुरुषों की बुद्धि और शक्ति दोनों ही समाप्त हो जाती  हैं। इसी वजह से उनके  राज्य में सैनिक और अधिकारीयो  की शादी नहीं होती थी ।

हालांकि, संत वैलेंटाइन ने राजा क्लॉडियस के इस नियम  का विरोध किया और रोम के लोगों को प्यार और विवाह के लिए जागरूक किया। इतना ही नहीं, उन्होंने कई अधिकारियों और सैनिकों की शादियां भी कराई। जो भी सिपाही शादी करना चाहते थे वो वैलेंटाइन के पास आते  थे और वैलेंटाइन उनकी मदद भी करते थे और उनकी शादीया भी करवा देते थे, इसी तरह वैलेंटाइन ने बहुत सारी  सिपाहियों की गुप्त शादीया करवाइ  ,इस बात से राजा भड़क गए औरसंत वैलेंटाइन को 14 फरवरी 269 में फांसी पर चढ़ाने का फैसला  सुनाया ।

जेल के अन्दर वैलेंटाइन अपनी मौत की तारीख का इंतज़ार कर रहे थे की  एक दिन उनके पास जेलर आया जिसका नाम एस्टेरियस था . रोम  के लोगों का कहना था की वैलेंटाइन के पास एक अद्भुत  शक्ति थी जिसके इस्तेमाल से वो लोगो को रोगों से मुक्ति दिला सकते थे . एस्टेरियस की एक अंधी बेटी थी जब जेलर को वैलेंटाइन के पास बसी जादुई ताकात के बारे में पता चला तो  वोवैलेंटाइन के पास जाकर उनसे विन्नती करने लगा की उसकी बेटी की आँखों की रौशनी को अपने दिव्य शक्ति से ठीक कर दे, वैलेंटाइन एक नेक दिल के इंसान थे और वो सबकी मदद करते थे इसलिए उन्होंने जेलर की भी मदद की और उनकी अंधी बेटी की आँखों को भी अपनी शक्ति से ठीक कर दिया। 

उस दिन के बाद से वैलेंटाइन और Asterius के बेटी के बिच गेहरी दोस्ती हो गयी और वो दोस्ती कब प्यार में बदल गयी उन्हें पता ही नहीं चला ।  एस्टेरियस  की बेटी को  जब वैलेंटाइन की फांसी  का पता चला तब  उसको गहरा सदमा लगा।और आखिर कर वो दिन 14 फ़रवरी आ गया था जिस दिन वैलेंटाइन को फाँसी लगने वाली थी । अपनी मौत से पहले वैलेंटाइन ने जेलर से एक कलम और कगाज़ माँगा और उस कागज़ में उसने जेलर की बेटी के लिए एक अलविदा सन्देश लिखा, पन्ने के आखिर में उसने “तुम्हारावैलेंटाइन” लिखा था, ये वो सबद हैं जिसे आज भी लोग याद करते हैं । 

कहा जाता है कि संत वैलेंटाइन ने अपनी मौत से पहले  जेलर की नेत्रहीन बेटी जैकोबस को अपनी आंखे दान कीं। सैंट ने जेकोबस को एक पत्र भी लिखा, जिसके आखिर में उन्होंने लिखा था ‘तुम्हारा वैलेंटाइन’। उस दिन से हर साल इसी दिन को ‘प्यार के दिन’ के तौर पर मनाया जाता है।

वैलेंटाइन डे किसके साथ मनाये?

ये बहुत ही खास सवाल है की क्या हम वैलेंटाइन डे  केवल अपने Girlfriend या प्रेमी के साथ ही मनाया जा सकता है  ? इसका जवाब यह है की नहीं क्यूंकि आजकल ये केवल  प्रेमी तक ही सिमित नहीं रह गया है, आजकल तो इसे दोस्तों, परिवार, भाई बहन सभी के साथ मिल जुल कर मनाया जाता है .

यह अपने आपस के  प्यार को जाहिर करने का एक दिन होता है, आप इसे अपने परिवार के साथ साथ आप अपने दोस्त , और भी आप अपने बहुत से  लोगो के साथ मना सकते है।  . उदहारण के लिए –

  •  आप अपने जीवनसाथी के साथ प्यार इसे  मना सकते हैं
  •    आप अपने लवर्स  के साथ भी इसे मना सकते हैं
  •   आप अपने दोस्तों के साथ  भी इसे मना सकते हैं
  •   आप अपने परिवार के लोगों के साथ  भी इसे मना सकते हैं
  •   आप अपने pets के साथ  भी इसे मना सकते हैं

अगर हम लोग इसे सरल शब्दो मे कहना चाहैं तो हम कह सकते है की जिसकी आप  फिक्र करते है उनके साथ आप Valentine Day को अच्छी तरह से celebrate कर सकते हैं.

6 thoughts on “वैलेंटाइन डे क्या होता है? Valentine Day क्यों मनाते हैं

  1. Twicsy says:

    Aw, this was an extremely nice post. Spending some time and actual effort to make a
    top notch article… but what can I say… I hesitate a
    lot and never seem to get nearly anything done.

  2. Great work! This is the type of information that are meant to be shared across the net.

    Shame on Google for not positioning this submit upper! Come
    on over and seek advice from my web site . Thanks =)

  3. Twicsy says:

    Thank you for the good writeup. It in fact was a amusement account it.
    Look advanced to far added agreeable from you! However, how could we communicate?

  4. Undeniably believe that which you said. Your favorite justification seemed to be on the web the easiest thing to be aware of.
    I say to you, I certainly get annoyed while people consider worries that they plainly don’t know
    about. You managed to hit the nail upon the top as well as defined
    out the whole thing without having side-effects , people can take a signal.
    Will probably be back to get more. Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published.